क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में जानिए संपूर्ण जानकारी

क्रेडिट कार्ड क्या होता

क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में

हैलों दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस वेबसाइट vikramsaw.com पर, दोस्तों आपने तो क्रेडिट कार्ड के बारे में सुना ही होगा आजकल क्रेडिट कार्ड बहुत ज्यादा ही पोपुलर हो रहा है और लोगों के बीच इसका क्रेज बढ़ता ही जा रहा है तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगें कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में,क्रेडिट कार्ड का मतलब क्या होता है, क्रेडिट कार्ड क्या काम आता है ? मतलब कि आप इस पोस्ट में क्रेडिट कार्ड से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानेगें तो चलिये जानते है कि, क्रेडिट कार्ड से क्या आशय है-

क्रेडिट कार्ड दरअसल आपके एटीएम कार्ड के समान ही प्लास्टिक या मेटल का बना होता है और इसका इस्तेमाल करने का तरीका भी एटीएम कार्ड की तरह ही होता है एटीएम कार्ड को हम डेबिट कार्ड भी कहते है लेकिन आज हम क्रेडिट कार्ड के बारे में बात कर रहें है जो आपको एक प्रकार से उधार की सुविधा उपलब्ध कराती है.

क्रेडिट कार्ड क्या होता है ?

क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी

सबसे पहले हम बात करते हैं कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है ? और हमें क्रेडिट कार्ड कौन देता है, “वास्तव में क्रेडिट कार्ड एटीएम कार्ड की तरह एक कार्ड होता है जो कि बैंक के द्वारा या Financial Institutions जैसे कि (Central Banks, Retail and Commercial Banks, Internet Banks, Credit Unions, Savings and Loan Associations, Investment Banks and Companies, Brokerage Firms, Insurance Companies) आदि के द्वारा जारी किया जाता है”, क्रेडिट कार्ड का हमारे बैंक एकांउट से कुछ लेना-देना नहीं होता बल्कि ये इन Institutions के द्वारा अपनी खरीददारी हेतु Pre-Approved लिमिट से फण्ड उधार लेने की सुविधा देता है, इसीलिये अगर आपका बैंक में कोई एकांउट नहीं है तब भी आप क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं.

यह भी पढ़े- IPL Free Me Kaise Dekhe.

क्रेडिट कार्ड से कितने रुपये ले सकते है ?

क्रेडिट कार्ड क्या होता है यह तो आप समझ ही गये होंगे और आपके मन में शायद ये ख्याल आया होगा की अगर हमें बैंक बहुत सारा पैसा दे देगा तो हम भी विजय माल्या की तरह कहीं भाग सकते हैं तो ऐसा नहीं हैं दरअसल क्रेडिट कार्ड में बैंक और इन institutions की तरफ से हमें कुछ लिमिट दी जाती है जैसे शुरुवात में हमें 10000 रूपए से लेकर 20000,40000,800000,100000,4 लाख रुपये तक की लिमिट दी जाती है कि इतने पैसे हम कहीं पर भी खर्च कर सकते हैं.

और जब हम क्रेडिट कार्ड से लिये हुए पैसे को सही समय पर भुगतान कर देते है तो वैसे-वैसे हमारी लिमिट बढ़ा दी जाती है. जैसे अब मान लिजिये बैंक ने आपको एक क्रेडिट कार्ड दिया है और उस पर एक निश्चित राशि की लिमिट दी गयी है तो हम उस कार्ड की मदद से उतने पैसे ही खर्च कर सकते है.

क्रेडिट कार्ड का बिल कब आता है ? और इसका भुगतान कितने दिनों में करना होता है-

क्रेडिट कार्ड का हर महिने बिल जनरेट होता है जिसकी भुगतान करने की एक नियत तिथि होती है जैसे कि हर महीने की एक निश्चित तारीख को आपका बिल जनरेट होता है जैसे मान लेते है कि आपको एक क्रेडिट कार्ड मिला जिसपर आपको 10000 रुपये खर्च किये अब चाहे आपने इस 10000 को एकमुस्त खर्च किये हों या धीरे-धीरे अलग-अलग कामों में खर्च किये हो और उसके बाद 20 तारीख को आपके क्रेडिट कार्ड का बिल जनरेट हो गया.

अब आपको 15 दिनों के भीतर यानि अगले महीेने की 5 तारीख तक समय मिलता है कि 15 दिनों के भीतर आप अपना बिल भुगतान कर सकते है और अगर आप इन 15 दिनों के भीतर ही बिल का भुगतान कर देते है तो आपको कुल उतनी राशि ही भुगतान करनी पडेगी जितनी आपने कुल खर्च की है इस पर आपको किसी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जायेगा.

लेकिन यदि आप उन दिये गये नियत तिथि के अंदर अपने बिल का भुगतान नहीं करते है तब आपसे पेनाल्टी चार्ज की जाती है इसी तरह यदि आप कोई सामान किश्त के रुप में लेते है तो ये किश्त राशि भी आपको दिये गये बिल में ही जुड़ कर आती है जिसपर आपको मुल और ब्याज राशि जुड़ कर आती है.

यह भी पढ़े- fake call kaise kare

क्रेडिट कार्ड के फायदे-

क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड से हमे काफी सारे फायदे होते है और अगर हम इसका इस्तेमाल एक सही तरीके से करें तो इसका हम बहुत लाभ ले सकते हैं साथ ही क्रेडिट कार्ड की एक कमाल की बात यह भी है कि क्रेडिट कार्ड के एमांउट को आप 15 दिनों के लिये बिना किसी ब्याज के इस्तेमाल कर सकते है और एक नज़र ध्यान से देखे तो हमने जिस महीने क्रेडिट कार्ड से खर्च किये और उसका बिल जनरेट होने के 15 दिनों तक हमें बिल भुगतान का समय मिलता है मतलब क्रेडिट कार्ड का यह भी फायदा है कि हम 45 दिन के लिये ब्याज फ्री राशि युज कर सकते है.

क्रेडिट कार्ड को अगर सही तरीेके से युज किया जाये तो ये आपके लिये काफी फायदे की चीज है कि आपके पास इतना सारा पैसा हर समय मौजुद है आप जब चाहे इमरजेंसी पर आप खर्च कर सकते हैं.लेकिन यदि आप समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान सही समय पर नहीं करते हैं तो आपके उपर अलग-अलग प्रकार के चार्जेस लग सकते है.अब तक आप समझ ही चुके होगें कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है और ये कैसे काम करता है अगर आप भी क्रेडिट कार्ड लेने की सोच रहें है तो अब हम बात करेंगें कि आप किस तरह अपना क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं –

क्रेडिट कार्ड लेने का तरीका-

यदि आप भी क्रेडिट कार्ड लेना चाहते तो आप दो तरीेके से क्रेडिट कार्ड के लिये आवेदन कर सकते है

  • पहला तरीका- पहले तरीेके में आपको बैंक जाना होगा आपके जिस बैंक में खाता ओपन है वहां जाकर आप क्रेडिट कार्ड के लिये आवेदन कर सकते है.
  • दूसरा तरीका- दूसरे तरीके में आप स्वयं से घर बैठे क्रेडिट कार्ड के लिये ऑनलाइन आवेदन कर सकते है इसके लिये आजकल काफी सारे एप्प मौजूद हैं आपको एक एप्लीकेशन की आवश्कता पडेगी जैसे कि एक एप्लीकेशन है जिसका नाम है Paisabazaar.com

इस एप्लीकेशन का लिंक भी हमने नीचे दे रखा है आप चाहे तो वहां से भी सीधे डाउनलोड कर सकते है-

   PAISABAZAAR APK   

इस एप्प में बहुत सारे क्रेडिट कार्ड के ऑप्शन मिल जाते है और आप अपनी आवश्यकता के हिसाब से उस क्रेडिट कार्ड के लिये आवेदन कर सकते हैं.
अगर आपका आवेदन स्वीकृत कर लिया जाता है तो कुछ ही दिनों के भीतर आपके पते पर एक एजेंट आयेगा जो आपके आवेदन के अनुसार आपके दस्तोवेंजों का सत्यापन करेगा और अगर सभी डाॅक्युमेंट सही होगें तो आपको बहुत जल्द आपका क्रेडिट कार्ड आपके पास होगा।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड क्या होता ? डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर-

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर

हम अक्सर डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के बीच अंतर ठीक तरीके से समझ नही पाते और दोनों के बीच Confused हो जाते है तो आपको यह पता होना चाहिए की जो डेबिट कार्ड होता है वो डायरेक्टली आपके बैंक खाते से लिंक होता है यानि कि जितना आपके बैंक खाते में पैसा होगा उतने रुपये आप अपने डेबिट कार्ड से खर्च कर सकते है.

लेकिन क्रेडिट कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक नहीं होता इसमें बैंक आपको एक लिमिट दे देता है जैसे कि आपको इस कार्ड में कुछ राशि जैसे 10 हजार,20 हजार,1 लाख की लिमिट दे देता है मतलब इस कार्ड में बैंक पैसे को जमा कर देता है | ये राशि आपके इनकम के हिसाब से तय की जाती है जो एक प्रकार से आपके बैेंक खाते के टासेक्शन,आपकी सालाना कमाई, सिबिल स्कोर (बैंक रिकार्ड) पर भी निर्भर करता है.

डेबिट कार्ड से आप अपने मन से जितना नगद निकालना चाहते हैं निकल सकते हैं जबकि क्रेडिट कार्ड में कैश का प्रावधान नहीं होता मतलब आप इस कार्ड की मदद से कुछ ही प्रतिशत नगद राशि का आहरण कर सकते है और यदि आप क्रेडिट कार्ड से नगद राशि आहरण करते हो तो उस पर आपको ब्याज देना पड़ता है.

लेकिन यदि आप क्रेडिट कार्ड में उपलब्ध इन पैसों को कहीं खर्च करते हो जैसे ऑनलाइन,शाॅपिंग प्लेस, तो इन राशि पर आपको एक निश्चित तिथि तक कोई ब्याज नहीं देना पड़ता.

क्रेडिट कार्ड किसको मिलता है ?

क्रेडिट कार्ड हर किसी को नहीं मिलता क्रेडिट कार्ड उसी व्यक्ति को मिलता है जिसकी कोई इनकम है या वह कोई इनकम अर्न करता हो या उसके पास जाॅब होनी चाहिये या फिर वह सेल्फ बिजनेसमेन हो तो उन्हीं लोगों को बैंक क्रेडिट कार्ड देती है.और अगर आपके पास ये सब चीजे नही होती है फिर भी आप  बैंक द्वारा दिए गये दिसानिर्देशो का पालन कर क्रेडिट कार्ड के लिये आवेदन कर सकते हैं.  

आशा करता हूं की आपको हमारा यह पोस्ट क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में पसंद आया होगा तो आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर लीजियेगा तो आपको हमारा अपडेट तुरंत मिल जायेगा और अगर आप हमें पोस्ट से संबंधित कुछ सुझाव या फिर कुछ पुछना चाहते है तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं | धन्यवाद..

Tags- क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में,क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में बताये ? डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर.,क्रेडिट कार्ड क्या होता है इसका मतलब .

You May Also Like

About the Author: Vikram Saw- सर्वश्रेष्ठ ज्ञान हिंदी में

हमारी वेबसाइट vikramsaw.com एक हिंदी ब्लॉगिंग वेबसाइट है जिसमें हिंदी में प्रतिदिन नई और आवश्यक जानकारी पोस्ट की जाती है लेकिन आप अंग्रेजी भाषा में अनुवाद कर सकते हैं इस वेबसाइट में आप हिंदी ब्लॉगिंग वेबसाइट में दिलचस्प, आधुनिक, महत्वपूर्ण, ट्रेंडिंग टॉपिक्स और नई चीजों के बारे में जान सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Open chat